Download app | Follow Us On :

सभी नवीनतम परीक्षा अपडेट
(All Latest Exams Updates)

सभी नवीनतम परीक्षा अपडेट
All Latest Exams Updates : Develop India Group (DIG)

 

BPSC Prelims complete study notes available


Date : January 2020


बिहार लोक सेवा आयोग (बीपीएससी) की 65वीं संयुक्त प्रारंभिक प्रतियोगिता परीक्षा मंगलवार को 35 जिलों के 718 केंद्रों पर शांतिपूर्वक संपन्न हुई। अभ्यर्थियों ने बताया कि इस बार प्रश्न का स्तर सामान्य है। लेकिन, बिहार से संबंधित प्रश्नों ने चौंकाया । मसलन, होली में कहां पौधारोपण किया जाता है? भारत के वरीयता क्रम में निम्नलिखित में कौन पहले आता है? विकल्प में यूपीएससी के अध्यक्ष, मुख्य चुनाव आयुक्त, नियंत्रक एवं महालेखा नियंत्रक, उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश तथा उपयुक्त में से कोई नहीं या एक से अधिक था। कृषि कुंभ मेला-2019, विराट कोहली, चंद्रयान-2, वीवीपैट, पोस्टमॉर्टम, हिंदू वृद्धि दर आदि से जुड़े प्रश्न पूछे गए थे।

विशेषज्ञों के अनुसार इसका कटऑफ पिछले सभी परीक्षाओं का रिकॉर्ड तोड़ देगा। परीक्षार्थियों की संख्या अधिक और प्रश्न पत्र सामान्य स्तर के होने के कारण कटऑफ 100 से अधिक जाएगा। 64वीं पीटी का सामान्य श्रेणी का कटऑफ 97 था। इस बार 100 से 105 के बीच कटऑफ रहने की संभावना जताई जा रही है।

64वीं पीटी                कटऑफ 

सामान्य (पुरुष-महिला)  97-86

एससी (पुरुष-महिला)    85-69

एसटी (पुरुष-महिला)     89-80

ईबीसी (पुरुष-महिला)     90-76

On 15th October 2019 Bihar Public Service Commission (BPSC) has released 63 CCE Final Result 2019. All those candidates who appeared in the BPSC Bihar PCS 63rd Exam 2019 can download their result through the official website of BPSC.i.e. bpsc.bih.nic.in.

This year, a total of 355 candidates have been qualified in Bihar PCS 63rd Exam 2019. Around 924 candidates were shortlisted for interview round out of which only 355 candidates appeared in the interview round. BPSC 63rd CCE Interview Round was held on 27 August to 15 September 2019 at various exam centres of Bihar.

बिहार लोक सेवा आयोग ने 63वीं कंबाइंड कंपीटिटीव परीक्षा का फाइनल रिजल्ट घोषित कर दिया है। बिहार लोक सेवा आयोग की 63वीं परीक्षा के रिजल्ट में एक नया ट्रेंड देखने को मिला है। संघ लोक सेवा आयोग की तरह ही बीपीएसएसी की परीक्षा में बीटेक वाले छात्रों का जलवा दिखा है। वहीं पहले से नौकरी-पेशा वाले छात्र अन्य पर भारी पड़े हैं। अगर टॉप टेन में जगह बनाने वाले अभ्यर्थियों की सूची को देखा जाए तो इसमें पूर्व से नौकरी कर रहे लोगों की भरमार है। इनमें बीटेक करने वाले छात्रों की संख्या अधिक है। पहला स्थान प्राप्त करने वाले श्रीयांश तिवारी भारत सरकार के ग्रामीण विभाग में बतौर पदाधिकारी हैं। इनका एकेडमिक बैकग्राउंड इंजीनिर्यंरग का रहा है। दूसरा स्थान प्राप्त करने वाले नालंदा के नगरनौसा निवासी अनुराग कुमार बीटेक हैं। इन्होंने एनआईटी वारंगल से बीटेक किया है। वहीं इस बार चौथा स्थान प्राप्त करने वाली पटना की सुनिधि वर्तमान में बेंगलुरु ईपीएफओ विभाग में कार्यरत हैं।  इसी तरह सातवां स्थान प्राप्त करने वाले खगड़िया निवासी अमूल्य रतन आईआईटी कानपुर से बीटेक और एमटेक कर चुके हैं। इनका ट्रेड सिविल इंजीनिर्यंरग था।